Facebook
Instagram
You-Tube
Whatsapp
Telegram

ट्रस्ट की स्थापना

ट्रस्ट की स्थापना

ट्रस्ट की स्थापना

1. न्यासकर्ता परम पूज्य महर्षि मेँहीँ परमहंसजी महाराज के शिष्य हैं और उनके द्वारा अनुदेशित सिद्धांतों का पालन करते हुए सत्संग और ध्यान जैसे आध्यात्मिक कार्यों में संलग्न है। मानस जप, मानस ध्यान, दृष्टियोग और सुरत शब्दयोग का अनुपालन करते हुए आंतरिक उन्नति करना, सदाचार का पालन करना तथा हिंसा करनी तथा जीवों को दुख देना वा मत्स्य मांस को खा़द्य पदार्थ समझना और चोरी करना-इन पंच पापों का निषेध है, का समर्थन न्यासकर्ता करते हैं। उपरोक्त सिद्धांतों को समावेशित करते हुए मानव का भौतिक विकास भी हो सके तथा समाज में नैतिकता, सम्यक शिक्षा, सम्यक आजीविका को प्रोत्साहित किया जा सके, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए इस न्यास की स्थापना की जा रही है। न्यासकर्ता यह अपेक्षा करते हैं कि सभी न्यासधारी और न्यास की कार्यकारिणी के सदस्य, पारदर्शिता अपनाते हुए उपरोक्त सिद्धांतों का अनुसरण करते हुए न्यास के उद्देश्यों को पूर्ण करने में अपना योगदान देंगे।

 

Copyright © 2021 MAHARSHI MEHI DHYAN GYAN SEVA TRUST | Website Developed by SANJAY KRISHNA & TESRON WEBTECH